कोरोना वायरस पर दिल्ली सीएम की प्रेस वार्ता

Copy

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस बात को उठाया है कि उनके राज्य के लोग दिल्ली में फंस चुके हैं और वापस आने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसे में मैं हर किसी को आश्वासन देना चाहता हूं कि दिल्ली की सीमा में जो भी लोग मौजूद हैं, उनकी सभी की जिम्मेदारी हमारी है.

बाहरी लोगों की भी जिम्मेदारी हमारी: केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोई किसी भी राज्य का नागरिक हो, लेकिन अब वो दिल्ली के हैं. राज्य में हमने रैन बसेरा की व्यवस्था की है, जहां पर लोग रुक सकते हैं इसके अलावा वहां पर खाने की भी व्यवस्था सुचारू रूप से शुरू है.

गौरतलब है कि देश के अलग-अलग हिस्सों से कई तस्वीरें सामने आई हैं, जहां पर लॉकडाउन की वजह से मजदूर फंस गए हैं. दिल्ली में कई मजदूर, रिक्शा-ऑटो चालक पैदल ही या फिर किसी तरीके से अपने गांव वापस जा रहे हैं. हर किसी का यही कहना है कि यहां पर काम ठप है, खाने-रहने की सुविधा नहीं है ऐसे में घर जाना ही बेहतर है.

आपको बता दें कि दुनिया के 50 से ज्यादा देशों के 170 करोड़ लोग कोरोना के कारण घरों में कैद रहने को मजबूर हैं.
चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना ने दुनिया के 196 देशों को अपनी चपेट में ले रखा है. अबतक कोरोना की चपेट में आकर दुनिया में कुल 25,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है,. जबकि हिंदुस्तान में अबतक 20 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. इसी के साथ देश में कोरोना वायरस के कुल केस 727 हो गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here