कोरोना वायरस की महामारी के कारण देशव्यापी लॉकडाउन के बीच रमजान का महीना एक बार फिर पुलिस और प्रशासन के लिए सिरदर्द बन गया है। उत्तर प्रदेश के बहराइच की मस्जिदों और दिल्ली चाँदनी चौक के बाजारों में नमाजियों की भीड़ उमड़ पड़ी।उत्तर प्रदेश स्थित बहराइच के बोंडी थाना क्षेत्र में इसकी सूचना पर जब पुलिस दल मौके पर पहुँचा इस दौरान नमाजियों ने पुलिस पर ही हमला कर दिया। पुलिस ने इस मामले में 31 नमाजियों पर हत्या के प्रयास समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है और 23 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

नमाजियों ने पुलिस पर डंडों से हमला किया और पत्थरबाजी की, जिसमें 2 दरोगा और 6 पुलिसकर्मियों को काफी चोट आई हैं। कुछ हमलावर वहाँ से फरार भी हो गए। पुलिस को शुक्रवार को जब दिहवाकला स्थित मस्जिद में नमाज पढ़ने की सूचना मिली तो नमाजियों ने सिपाहियों पर हमला बोल दिया। वहाँ पर किसी तरह से पुलिस ने उपद्रवियों पर काबू पाया और नमाज पढ़ रहे 23 लोगों को हिरासत में लिया।

Copy

रिपोर्ट्स के अनुसार मौलाना सईद, गुल्लऊ, इरफान, सद्दाम, अनवर अली, मो. अतीक, मो. सईद, जाकिर, ताज मोहम्मद, हजरद्दीन, ताहिर, ननकऊ, लुकमान, नफीस, इसारत, जाकिर, बदलू, अलीयार, सद्दीक, सूफियान, लल्लन, जाबिर अली, अली मोहम्मद के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन व जानलेवा हमले समेत कई अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

राजधानी दिल्ली में भी शुक्रवार को रमजान की खरीदारी के लिए दिल्ली के चाँदनी चौक इलाके में मुस्लिमों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का जमकर मजाक बनता नजर आया। आशंका जताई जा रही है कि यदि ऐसे ही हालात रहे तो आने वाले वक्त में दिल्ली की स्थिति और बदतर हो जाएगी। सरकार ने लोगों से घरों में नमाज पढ़ने और कहीं इफ्तार पार्टी आयोजित नहीं करने की अपील की थी। इस दौरान बाजार में मौजूद भीड़ में ना तो दुकानदार और ना ही ग्राहकों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया।

INPUT – ऑपइंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here