PATNA : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोक जनशक्ति पार्टी को लेकर बड़ा बयान दिया है. अमित शाह ने कहा है कि बिहार चुनाव के बाद लोजपा से फिर से गठबंधन पर विचार करेंगे. फिलहाल तो बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी पार्टी मिलकर बिहार चुनाव लड रही है. दरअसल एक टीवी चैनल के इंटरव्यू में अमित शाह से पूछा गया था कि क्या बिहार चुनाव के बाद लोजपा से फिर से तालमेल हो सकता है. अमित शाह ने कहा कि चुनाव के बाद इस मसले को देखेंगे. अमित शाह ने लोजपा के साथ फिर से दोस्ती होने की संभावना को खारिज नहीं किया.

अमित शाह ने कहा कि फिलहाल बिहार में लोजपा एनडीए के साथ चुनाव नहीं लड रही है लेकिन इसका दोष लोक जनशक्ति पार्टी पर है. अमित शाह ने कहा कि उनकी चिराग भाई से कई दफे बात हुई थी. उन्होंने चिराग पासवान को विधानसभा सीटों का ऑफर देते हुए कहा था कि वे इसमें कुछ आगे-पीछे करने को तैयार हैं. लेकिन चिराग पासवान नहीं माने. चिराग पासवान ने कुछ एकतरफा बयान भी दिया था जिससे स्थिति असहज हुई. इसके बाद भी बीजेपी ने गठबंधन तोड़ने का फैसला नहीं लिया, लोजपा ने गठबंधन से अलग होने का फैसला लिया. हालांकि अमित शाह ने ये बताने से इंकार कर दिया कि आखिरकार चिराग पासवान को कितनी सीटों का ऑफर दिया जा रहा था. उन्होंने कहा कि जेडीयू के एनडीए में शामिल होने के बाद पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में सीटें कम की जा रही थी. बीजेपी भी अपनी सीट कम रही थी, लोजपा को भी सीट कम करने को कहा गया था. अमित शाह ने स्वीकारा कि चिराग के गठबंधन में नहीं रहने से नुकसान हुआ. लेकिन उन्होंने साथ में ये भी दावा किया कि वीआईपी पार्टी के आने से एनडीए का सामाजिक समीकरण मजबूत हुआ है.

Copy

अमित शाह ने कहा “हमने पहले ये घोषणा कर दी थी कि 2020 का चुनाव नीतीश के नेतृत्व में लड़ेगे. बाद में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी यही घोषणा की थी. अब अगर इस पर कोई भ्रांति फैला रहा है मैं उस पर फुल स्टॉप लगा रहा हूं. अब अगर मगर का सवाल नहीं. नीतीश कुमार को ही मुख्यमंत्री बनाया जायेगा.” अमित शाह ने कहा कि कुछ कमिटमेंट ऐसे होते हैं जो सार्वजनिक तौर पर किये जाते हैं. उस का पालन किया जायेगा. बिहार में एनडीए पूरे दमखम से चुनाव लड़ रही है और तीन चौथाई सीटों पर जीत हासिल करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here