PATNA : असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन यानी AIMIM ने बिहार की 50 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. पटना के होटल कौटिल्य में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात की जानकारी देते हुए हैदराबाद के पूर्व मेयर माजिद हुसैन और AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल इमान (Akhtarul Eman) ने उन 18 सीटों के नामों की घोषणा की जिन पर AIMIM अपने उम्मीदवार उतारेगी. बता दें कि इसके पहले पार्टी ने 32 सीटों पर प्रत्याशी उतारने का ऐलान किया था. अख्तरूल इमाम ने इस मौके पर कहा कि बिहार में NDA की सरकार विकास विरोधी है और AIMIM इसे उखाड़ फेंकने की कोशिश करेगी. मंगलवार को AIMIM ने जिन सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का ऐलान किया है उनमें कोचाधामन, किशनगंज, बहादुरगंज, ठाकुरगंज, कस्बा, अररिया, नरपतगंज, छातापुर, प्राणपुर, जाले, दरभंगा, सुगौली, भागलपुर, गया, पूर्णिया, धमदाहा, पीरो और मनिहारी की सीट शामिल है.

बता दें कि इससे पहले AIMIM ने कटिहार की बलरामपुर, बरारी, कदवा. पूर्णिया की अमौर, बायसी. अररिया की जोकीहाट. दरभंगा की केवटी. समस्तीपुर की समस्तीपुर विधानसभा. मधुबनी की बिस्फी, झंझारपुर. मुजफ्फरपुर की बोचहां (आरक्षित), साहेबगंज. वैशाली की महुआ. पश्चिमी चम्पारण की बेतिया, रामनगर. मोतिहारी की ढाका, नरकटियागंज. सीतामढ़ी की परिहार, बाजपट्टी. पटना की फुलवारीशरीफ (आरक्षित). सीवान की रघुनाथपुर, दरौन्धा. गोपालगंज की बरौली. बेगूसराय की साहेबपुर कमाल. भागलपुर की कहलगांव. सहरसा की सिमरी बख्तियारपुर. आरा की शाहपुर. जहानाबाद की मखदुमपुर. गया की इमामगंज, वजीरगंज. औरंगाबाद की औरंगाबाद विधानसभा और कैमूर की चैनपुर सीट पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया था.

Copy

AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी मुस्लिम और दलित के समीकरण को देखते हुए उम्मीदवार उतार रही है. उन्होंने यह भी कहा कि ग़ैर NDA किसी भी दल या गठबंधन के साथ चुनाव लड़ने को AIMIM तैयार है. उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी किसी को मदद पहुंचाने के लिए चुनाव नहीं लड़ रही है बल्कि हम पर जो आरोप लगाए जाते हैं वो हमारी लोकप्रियता से घबराए हुए हैं. इसी वजह से इस तरह के आरोप लगाए जाते हैं. हम पूरी ईमानदारी से चुनाव लड़ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here