PATNA : बेरोजगारी के खिलाफ सांकेतिक विरोध के तहत राजद और उसके सहयोगियों ने बुधवार को रात 9 बजे से 9 मिनट तक लालटेन, दीया, मोमबत्ती जलाया. इस कड़ी में पटना में लालू परिवार ने लालटेन जलाया. तेजस्वी यादव की इस मुहिम को उत्तर प्रदेश से लेकर सिंगापुर तक में सपोर्ट मिला. पटना में रात 9 बजे से पहले ही 10 सर्कुलर रोड स्थित लालू-राबड़ी आवास में लालू परिवार ने लालटेन जलाया. इस कार्यक्रम में लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव समेत तेजस्वी और राबड़ी देवी ने भी लालटेन जलाया और 9 मिनट तक लालटेन लेकर खड़े रहे. तेजस्वी की इस मुहिम को उनकी बहन रोहिणी आचार्य ने भी सपोर्ट किया और सिंगापुर में अपने घर पर लालटेन जलाया. पटना स्थित लालू आवास में तेजस्वी, तेजप्रताप के अलावा अन्य कार्यकर्ताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए लालटेन जलाया और बेरोजगारी के खिलाफ विरोध दर्ज कराया.

तेजस्वी की इस मुहिम को उनकी बहन रोहिणी आचार्य ने भी सपोर्ट किया और सिंगापुर में अपने घर पर लालटेन जलाया और इस फोटो को सोशल मीडिया में शेयर भी किया है. अखिलेश यादव ने कहा कि आज आनेवाले कल के बदलाव का इतिहास लिख दिया, सियासत के आसमान पर रोशनी से इंक़लाब लिख दिया. आज युवाओं ने भाजपा के शासनकाल की उल्टी गिनती की शुरूआत कर दी है. हमने नौजवानों की ख़ातिर मोमबत्तियाँ जलाकर हमेशा की तरह आज भी उनका साथ दिया है और देते रहेंगे. तेजस्वी ने इस दौरान मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि नीतीश जी कहते हैं कि बिहार के लोगों को अब लालटेन की जरूरत नहीं है, लेकिन सच तो ये है कि बिहार में अब तीर की जरूरत नहीं है क्योंकि जमाना मिसाइल का आ चुका है. ऐसे में तीर की भला क्या कोई जरूरत है? तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार से बिहार के सारे लोग नाराज हैं. उन्होंने हाल ही में वर्चुअल रैली किया, जो पूरी तरह फेल साबित हुई. सोशल मीडिया में उनके रैली को लाइक से ज्यादा डिसलाइक मिला. बिहार के बेरोजगार युवक जब सरकार से इसके बारे में सवाल उठाते हैं तो उनकी पुलिस नौजवानों के ऊपर लाठी बरसाती है.

Copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here