5 जून को लगने वाला चंद्र ग्रहण इन तीन राशियों पर रहेगा भारी, कर लें ये उपाय

Lunar Eclipse June 2020 Astrology: ज्योतिष के अनुसार जून का महीना काफी अहम रहने वाला है। दरअसल इस महीने में 2 ग्रहण जो लगने जा रहे हैं। 5 जून को चंद्र ग्रहण तो 21 जून को सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) लगेगा। दोनों ही ग्रहण का प्रभाव लंबे समय तक रहने के आसार हैं। आगामी चंद्र ग्रहण की बात करें तो ये वृश्चिक राशि में लगने जा रहा है। जिस कारण इस राशि वाले लोग ग्रहण से अधिक प्रभावित होंगे। इसके अलावा कुछ और राशियां हैं जिन पर ग्रहण का नकारात्मक असर पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

Copy

मेष: इस राशि के जातकों को पारिवारिक परेशानियों का अधिक सामना करना पड़ सकता है। मानसिक तनाव बढ़ सकते हैं। वाद विवाद से दूर रहने की सलाह है। कोई भी अहम निर्णय बिना सोचे समझे न लें। उपाय के लिए अपनी राशि के स्वामी मंगल के मंत्र का जाप करें और ग्रहण काल खत्म होने के बाद गरीबों की मदद करें। मंत्र- ॐ क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम:।

वृषभ: व्यापार में परेशानी आ सकती है। स्वास्थ्य खराब रहने के आसार हैं। वैवाहिक जीवन में भी उतार-चढ़ाव देखने को मिलेंगे। शुक्र के मंत्रों का ग्रहण काल में जाप करें और ग्रहण की समाप्ति के बाद गरीब व्यक्तियों को सफेद चीजों का दान करें। मंत्र- ऊँ ह्रीं श्रीं शुक्राय नम:।

मिथुन: हर काम में सावधान रहने की जरूरत है। वाद विवाद से बचकर रहें। सेहत का साथ कम मिलेगा। आर्थिक समस्याओं का निरंतर सामना करना पड़ सकता है। किसी महिला से विवाद के चलते कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं। बुध के मंत्रो का जाप करें। गरीबों को ग्रहण खत्म होने के बाद मीठी खीर दान करें। मंत्र- ऊँ ऎं स्त्रीं श्रीं बुधाय नम:

कर्क: ये ग्रहण आपकी परेशानियां बढ़ा सकता है। संतान पक्ष की तरफ से भी परेशानी आने के आसार हैं। गर्भवती महिलाएं अपना खास ध्यान रखें। ग्रहण काल में इंद्र गायत्री मंत्र का जाप करें और जरूरतमंदों को जरूरी सामग्री दान करें।

सिंह: इस ग्रहण का आपकी और आपके परिवार वालों की सेहत पर बुरा असर पड़ता दिखाई दे रहा है। वाद विवादों में पड़ सकते हैं। तनाव की स्थिति बनी रहेगी। ग्रहणकाल में सूर्य और चंद्रमा के मंत्रों का जाप करें और ग्रहण की समाप्ति के बाद गुड़ और चीनी का दान भी जरूर करें।

कन्या: परिवार के सदस्यों की सेहत बिगड़ सकती है। पारिवारिक जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। पार्टनरशिप के काम में सतर्कता बरतने की जरूरत पड़ेगी। बुध के मंत्रों का जाप ग्रहणकाल में करना लाभकारी रहेगा और ग्रहण की समाप्ति के बाद गरीब व्यक्ति को हरी सब्जी का दान भी जरूर करें।

तुला: कार्यक्षेत्र में दिक्कतें आएंगी। वाणी पर खास संयम बरतना होगा। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। ग्रहण काल के दौरान शुक्र के मंत्रों का जाप करें और इसकी समाप्ति के बाद गरीब व्यक्ति को घी दान करें।

वृश्चिक: मानसिक तनाव ज्यादा रहेंगे। आध्यात्मिक कार्यों में आपका ज्यादा मन लगेगा। जिससे शांति मिलेगी। इंद्र गायत्री मंत्र का जाप करें। ग्रहण खत्म होने के बाद शिव भगवान की अराधना करें।

धनु: गलत विचार अपने मन में लाने से बचें। धार्मिक कार्यों में ज्यादा मन लगेगा। कोई भी फैसला सोच समझकर लें। बृहस्पति मंत्र का जाप करें। निर्धन व्यक्ति को हल्दी का दान करें।

मकर: आर्थिक स्थिति कुछ कमजोर होने के आसार हैं। आता हुआ धन किसी कारण रूक सकता है। जीवनसाथी के साथ मनमुटाव होता रहेगा। किसी तीसरे व्यक्ति के कारण आपकी लव लाइफ बर्बाद हो सकती है। शनि के मंत्रों का जाप ग्रहण के समय करें और चंद्रग्रहण की समाप्ति के बाद सरसों का तेल गरीब व्यक्ति को दान करें।

कुंभ: पिता की सेहत का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। शत्रु आप पर हावी होंगे। कार्यक्षेत्र में कोई आरोप लगा सकता है। ग्रहण के समय शनि के मंत्र का जाप करें और ग्रहण की समाप्ति के बाद सरसों के तेल और मिठाई का दान करें।

मीन: वाहन चलाते समय सावधानी बरतने की जरूरत पड़ेगी। बच्चों की सेहत कुछ बिगड़ सकती है। शिक्षा के क्षेत्र में आपको विशेष ध्यान देने की जरूरत है। बृहस्पति के मंत्र का जाप करें और ग्रहण की समाप्ति के बाद चने की दाल दान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here