पटना: कोविड अस्पताल एनएमसीएच में भर्ती कोरोना पॉजिटिव गंभीर मरीज को आवश्यकतानुसार रेमडेसिवरी इंजेक्शन अब मुफ्त दिया जाएगा। यह जानकारी अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार मिंह ने दी। उन्होंने बताया कि यह एंटीवायटल इंजेक्शन आयुष्मान भारत योजना के तहत तथा रोगी कल्याण समिति के कोष से मरीज को खरीद कर दी जाएगी। सभी विभाग के अध्यक्ष व यूनिट इंचार्ज को इसकी जानकारी दी गई है।

अधीक्षक ने बताया कि यह महंगा इंजेक्शन मरीज के लिए स्वजन खुद खरीद रहे थे। स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार जिस्र मरीज को रेमडिस्िवीर इंजेक्शन देने की आवश्यकता है, उसे आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जा रहा है। जिनके पास गोल्डन कार्ड नहीं है और बीपीएल के दायरे में हैं, उन्हें अस्पताल के सहयोग सै इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

Copy

रेमडेसिवीर को इबोला के लिए किया गया था विकसित : रेमडेसिवीर एक न्यूक्लियोसाइड राइबोन्यूक्लिक ए’सिड (RNA) पोलीमरेज़ इनहिबिटर इंजेक्शन है। इसका निर्माण सबसे पहले वायरल रक्तस्रावी बु’खार इ’बोला के इलाज के लिए किया गया था। इसे अमेरिकी फार्मास्युटिकल गिलियड साइंसेज द्वारा बनाया गया है। फरवरी में US नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शस डिजीज (NIAID) ने SARS-CoV-2 के खिलाफ जांच के लिए रेमडेसिवीर का ट्रायल करने की घोषणा की थी। अब यह ट्रायल सफल होता नजर आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here