PATNA : कोविड की महामारी के दौर में जॉब्स, ग्रोथ और स्थायित्व पर बातचीत करते हुए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार काे सरकारी बाबुओं पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा- जिन लोगों को नौकरी कहीं नहीं मिलती, वे सरकारी नौकरी लेने में पूरी तरह कामयाब हो जाते हैं। इससे आगे मैं और कुछ कहना नहीं चाहता।

गडकरी ने कोरोना से बदले हालात में काउंसिल फॉर एनर्जी, एन्वायमेंट एंड वाटर की रिपोर्ट वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से जारी की। उन्होंने काउंसिल के एक्सपर्ट्स से कहा कि सरकार में रिसर्च स्कॉलर नहीं हैं। लिहाजा भारी भरकम रिपोर्ट को खंडाें में बांटकर दें, ताकि आसानी से समझ आ सके। सरकार में टैलेंट की कमी नहीं है, पर सिस्टम बहुत खराब है। नॉलेज को वेल्थ अाैर वेस्ट को वेल्थ में बदलना होगा। कुछ भी बेकार नहीं होता।

Copy

काउंसिल ने बड़ी सिफारिश यह की है कि करीब 3 करोड़ प्रवासी मजदूरों के लिए सरकारी सहायता से 60 हजार कैंटीन और 8200 रसोइयां खोली जाएं ताकि दिन में तीन समय का किफायती और सेहतमंद खाना उपलब्ध कराया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here