रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से भूमि पूजन का देश भर में लाइव प्रसारण किया जाएगा। इस दौरान अमेरिका के टेक्सास शहर के हृयूस्टन में सितंबर 2019 हुए ‘हाउडी मोदी’ के कार्यक्रम की याद भारतवासियों के जेहन में होगी। कोरोना संकट के कारण भूमि पूजन में भले देश की सभी शीर्षस्थ हस्तियों को शामिल नहीं किया जा रहा है। फिर भी इस आयोजन को हाउडी मोदी की ही तर्ज पर मेगा इवेंट बनाने की तैयारी है।

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के प्रतिनिधि महंत कमल नयन दास बताते हैं कि प्रधानमंत्री श्री मोदी स्वयं राम मंदिर निर्माण के लिए लालायित थे। उन्होंने बताया कि ट्रस्ट की पहली बैठक के बाद 20 फरवरी को प्रधानमंत्री से भेंट करने गए सभी पदाधिकारियों को शुभकामना दी थी और स्वयं भूमि पूजन में आने की इच्छा भी जताई थी। वह बताते हैं कि उसी समय से आयोजन की भूमिका तय होने लगी थी। पीएमओ की हरी झंडी के बाद ही तीस अप्रैल को भूमि पूजन की तिथि तय की गई थी लेकिन कोरोना के कारण पूरे आयोजन पर पानी फिर गया। अब जब दूसरी तिथि तय हुई है तो भी कोरोना संकट कायम है। फिर भी इस आयोजन को पूरा देश देखेगा, ऐसी व्यवस्था की जा रही है।

Copy

सोशल डिस्टेसिंग की पाबंदी के कारण सीमित संख्या में ही लोगों को आमंत्रित किया जाएगा। बावजूद इसके सभी रामभक्त स्वयं को कार्यक्रम में शामिल महसूस कर सकें, इसकी योजना बनाई जा रही है। देश भर में लाइव प्रसारण के अलावा अयोध्या-फैजाबाद के जुड़वा शहरों में दर्जनों स्थानों पर एलईडी टीवी के माध्यम से कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया जाएगा। उधर संघ के ही आनुषंगिक संगठन नववर्ष चेतना समिति ने पांच अगस्त को नगरवासियों से दीपावली मनाने की अपील की है। इसके साथ ही इस अपील को सोशल मीडिया पर भी जमकर प्रचारित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here