LUCKNOW : उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में 8 पुलिसकर्मियों की जघन्य हत्या कर फरार गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Vikas Dubey) को उज्जैन, मध्य प्रदेश (Ujjain, Madhya Pradesh) में गिरफतार कर लिया गया है. उसकी गिरफ्तारी को लेकर यूपी की सियासत में घमासान मचा है. सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पूछा है कि ये गिरफ्तारी है या आत्मसमर्पण. उधर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद उसकी मां का बयान सामने आया है. मां ने कहा कि टीवी से उन्हें विकास दुबे की गिरफ्तारी की जानकारी मिली है, वह सरकार से कोई अपील नहीं करना चाहतीं. मामले में विकास दुबे की मां ने कहा कि हमको टीवी देख कर पता चला विकास को पकड़ लिया गया है. हम सरकार से कोई अपील नहीं करेंगे, जिनको अपील करना है, वह लोग खुद अपील करेंगे कि विकास को क्या सजा दी जाए. मां ने बताया कि उज्जैन में विकास की ससुराल है. वह हर साल उज्जैन के महाकाल मंदिर जाता था.

उधर सूत्रों के अनुसार विकास के अलावा उज्जैन में उसके 2 साथी बिट्टू और सुरेश भी कस्टडी में हैं. पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है. उधर उज्जैन में कलेक्टर आशीष सिंह​ ने बताया कि विकास दुबे को महाकाल मंदिर के सुरक्षाकर्मियों ने पकड़ा है. मौके पर हल्की झड़प भी हुई. उज्जैन कलेक्टर ने खुलासा कि “मंदिर दर्शन नहीं कर पाया था विकास, पहले ही उसे पकड़ा.

Copy

उज्जैन महाकाल मंदिर में यूपी के अपराधी विकास दुबे के गिरफ्तारी देने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘मैंने यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी से बात कर ली है. शीघ्र आगे की कानूनी कार्रवाई की जायेगी. मध्यप्रदेश पुलिस, विकास दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंपेगी. उन्होंने विकास दुबे की गिरफ़्तारी के लिए उज्जैन पुलिस को बधाई दी है. सीएम शिवराज ने आगे लिखा कि जिनको लगता है की महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धूल जाएंगे उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं. हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्शने वाली नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here