69000 सहायक शिक्षक भर्ती में वांटेड स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव और भट्ठा संचालक मायापति दुबे की तलाश में लगी एसटीएफ अब उनके बैंक खातों की पड़ताल कर रही है। पता लगा रही है कि कहीं उन्होंने फरारी के दौरान कोई ट्रांजेक्शन तो नहीं किया। इससे उनकी लोकेशन ट्रेस करना एसटीएफ के लिए आसान होगा। दोनों आरोपी समेत 6 लोग वारदात के बाद से फरार हैं।

69000 सहायक शिक्षक भर्ती में वांछित स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव की तलाश में एसटीएफ ने धूमनगंज से लेकर लखनऊ तक छापेमारी की है। मोबाइल ऑफ होने के कारण सर्विलांस से भी उसकी लोकेशन ट्रेस नहीं हो पाई। एसटीएफ को शक है कि उसने कहीं शरण ली है। ऐसे में उसकी एटीएम कार्ड व बैंक स्टेटमेंट की मदद से जांच की जा रही है कि फरारी के वक़्त उसके बैंक खाते से कहीं कोई इंजेक्शन तो नहीं किया गया। ऐसा तो नहीं कि किसी ने आर्थिक रूप से मदद करने की कोशिश की। क्योंकि फरारी के दौरान भी उसे पैसे की जरूरत होगी और पैसे के लिए वह किसी न किसी से जरूर संपर्क करेगा। इसलिए इस एंगल पर भी नजर रखी है। इसी तरह भदोही के मायापति दुबे पर भी नजर रखी जा रही है।

Copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here