PATNA : लोजपा की प्रेशर पॉलिटिक्स पर अभी विराम नहीं लगा है। पार्टी ने बिहार की 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का एक बार ऐलान किया है। पार्टी ने साफ किया है कि हम भाजपा के साथ हैं, जदयू के साथ नहीं। जल्द ही प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी जाएगी। इससे पहले दोपहर में यह खबरें आई थी कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा से मुलाकात के बाद लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपनी 143 सीटों पर चुनाव लड़ने की जिद छोड़ दी है, लेकिन लोजपा संसदीय बोर्ड की बैठक ने इन खबरों को खारिज कर दिया। बुधवार को दिल्ली में लोजपा के सांसदों और पूर्व सांसदों की बैठक हुई और इसमें एक बार फिर 143 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात दोहराई गई। पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को सभी फैसले लेने के लिए अधिकृत कर दिया है। इससे यह तो साफ हो गया है कि एनडीए में सब कुछ ठीक नहीं है।

चिराग पासवान काफी दिनों से नीतीश पर हमलावर हैं। उन्होंने बयान दिया था कि जदयू उम्मीदवारों के खिलाफ वह अपने प्रत्याशी उतारेंगे। डैमेज कंट्रोल में जुटी भाजपा के प्रयासों को हाल ही नीतीश के साथ आने का ऐलान करने वाले पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने बेकार कर दिया था। मांझी ने कहा था- हम नीतीश के साथ हैं और पासवान की पार्टी के खिलाफ प्रत्याशी उतारेंगे। मांझी ने चिराग को घेरते हुए उनके पिता रामविलास पासवान की राजनीति पर भी सवाल उठा दिए थे। मांझी ने कहा था कि पासवान को दलितों का नेता कहना गलत है। उन्होंने दलितों के लिए कुछ नहीं किया है। इसके अलावा जदयू के अन्य नेताओं ने भी लोजपा पर जमकर हमला बोला था।

Copy

पिछले दिनों जदयू सांसद ललन सिंह ने कहा था कि हमारा गठबंधन भाजपा के साथ है, लोजपा के साथ नहीं। पार्टी ने इसका समर्थन किया। वहीं, लोजपा का कहना है कि हमारा भी गठबंधन भाजपा के साथ है, जदयू के साथ नहीं। बैठक में पार्टी नेताओं ने 143 सीटों पर प्रत्याशियों की सूची बनाकर जल्द केंद्रीय संसदीय बोर्ड को देने की बात कही। बैठक में फैसला लिया गया कि जल्द ही बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विजन डॉक्यूमेंट की बैठक होगी और उसके बाद केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक। इसी बैठक में आखिरी फैसला लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here