PATNA : पाकिस्तान ने शुक्रवार को कबूल किया कि अंडवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम उसकी जमीन पर है. लेकिन उसे अपनी बातों से पलटने की पुरानी आदत है और इस बार भी उसने ऐसा ही किया है. 24 घंटे के अंदर ही पाकिस्तान ने दाऊद इब्राहिम की मौजूदगी को आधिकारिक तौर पर नकार दिया है. पाकिस्तान ने कहा है कि दाऊद इब्राहिम उसकी जमीन पर नहीं है. मीडिया रिपोर्ट्स पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर पाकिस्तान में दाऊद की मौजूदगी को खारिज किया. पाक विदेश मंत्रालय ने कहा कि कुछ रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि पाकिस्तान नए प्रतिबंध लगा रहा है. ये रिपोर्ट गलत है और इसमें जरा भी सच्चाई नहीं है. मंत्रालय ने कहा कि इसी तरह, भारतीय मीडिया में दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान ने अपनी जमीन पर कुछ सूचीबद्ध व्यक्तियों (दाऊद इब्राहिम) की मौजूदगी को स्वीकारा है. ये दावा भी निराधार और भ्रामक है.

दरअसल, फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की ग्रे लिस्ट से बचने के लिए पाकिस्तान ने 88 आतंकी संगठनों और उनके आकाओं की लिस्ट जारी की. इसमें उनपर प्रतिबंध लगाने का दावा किया गया. इस लिस्ट में दाऊद इब्राहिम का नाम भी शामिल है. ऐसा करके पाकिस्तान ने मान लिया कि भारत का गुनहगार उसकी जमीन पर है. इमरान सरकार की ओर से जारी सूची में दाऊद के नाम के साथ दस्तावेज में उसका पता व्हाइट हाउस, कराची बताया गया है. पाकिस्तान की ओर से आतंकी संगठनों पर बैन का आदेश 18 अगस्त को जारी किया गया था. बता दें कि पाकिस्तान हमेशा से ही दाऊद के अपने यहां होने की बात से इनकार करता रहा है. पाकिस्तान की ओर से यह पहला आधिकारिक बयान था कि वह दाऊद इब्राहिम को शरण दे रहा है. इसे स्वीकार करने और दाऊद के ठिकाने को उजागर करने के पीछे पाकिस्तान की चाल है. दरअसल, वह FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने की कोशिश में जुटा है. पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट होने से बचना चाहता है. पाकिस्तान नहीं चाहता कि उत्तर कोरिया और ईरान के बाद वह इस लिस्ट में शामिल होने वाला तीसरा देश बन जाए.

Copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here