PATNA : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हो रहे हैं. इसके मद्देनजर अयोध्या में प्रशासन तमाम प्रोटोकॉल का पालन कर रहा है. सबसे पहला प्रोटोकॉल कोरोना वायरस को लेकर है, जिस पर प्रशासन का पूरा फोकस है. डीआईजी दीपक कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर तमाम एजेंसियों के साथ बैठक हुई है. पूरी तैयारी है. सुरक्षा के सभी मानक पूरे किए जा रहे हैं. कोविड प्रोटोकॉल के तहत अयोध्या में 5 अगस्त को एक साथ एक जगह 5 लोगों से ज्यादा को जुटने नहीं दिया जाएगा. दीपक कुमार ने बताया कि जितने भी वीवीआईपी आएंगे या फिर जितने भी आमंत्रित मेहमान आएंगे उन सबकी सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं. सुरक्षा को लेकर हम पूरी तरीके से चाक-चौबंद हैं. चाहे मेहमान हों, वीवीआईपी हों या फिर आम अयोध्यावासी सभी को पूरी सुरक्षा दी जाएगी.

अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रह हैं. 5 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी के दौरे को देखते हुए अयोध्या को चारों तरफ से सील करने की तैयारी है. अयोध्या सहित फैजाबाद शहर में प्रवेश के सभी रास्तों पर पूर्व में किए इंतजामों की निगरानी हो रही है. भूमिपूजन के मुख्य कार्यक्रम की पूर्व संध्या से पहले किसी को अयोध्या में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

Copy

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर अयोध्या में 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान भीड़ न लगाने की अपील की थी. राज्य सरकार कोविड-19 को लेकर नियमों का पालन करते हुए इस बड़े आयोजन को संपन्न कराना चाहती है. इसीलिए मुख्यमंत्री ने भूमि पूजन के दौरान कोविड-19 और सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखकर यह अपील की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here