PATNA : राज्य के नक्सल प्रभावित रोहतास, जमुई और नवादा जिलों में 1034 करोड़ रुपये की लागत से करीब 600 किमी की लंबाई में सड़क बनायी जायेगी. इसमें 34 पुलों का भी निर्माण होगा. केंद्र सरकार ने योजना के प्रथम किस्त की राशि 203 करोड़ रुपये जारी कर दिया है. पथ निर्माण विभाग के अनुसार वामपंथ उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों के लिए केंद्र सरकार की सड़क संपर्क योजना के अंतर्गत रोहतास, नवादा और जमुई जिले में 51 सड़कें बनायी जायेंगी. इसमें 15 मीटर लंबाई वाले 34 पुल–पुलियों का निर्माण भी शामिल है. इन 85 योजनाओं के लिए 60 प्रतिशत राशि केंद्र और 40 फीसदी राज्य सरकार देगी. रोहतास जिले के पांच, नवादा के 13 और जमुई जिले के छह प्रखंडों में पुल–पुलियों का निर्माण किया जायेगा.

इससे पहले केंद्र सरकार ने राज्य के औरंगाबाद, गया, बांका, जमुई और मुजफ्फरपुर जिले में 1037 किमी की लंबाई के पथ निर्माण की 64 योजनाओं और 41 पुलों के निर्माण के लिए 2017–18 और 2018–19 में 1638 करोड़ रुपये की मंजूरी दी थी. इसमें से 960 करोड़ रुपये का आवंटन प्राप्त हो चुका है. इसमें केंद्र की 517 करोड़ और राज्य की राशि 390 करोड़ है. स्वीकृत योजना के तहत 15 सड़कों का निर्माण हो चुका है और शेष 49 सड़कों का निर्माण कार्य मार्च 2021 तक पूरा कर लेने का लक्ष्य है. पथ निर्माण विभाग के मंत्री नंद किशोर यादव ने बताया कि सड़कों और पुलों का निर्माण और रखरखाव एक ही ठेकेदार के द्वारा किया जायेगा. इनका रखरखाव पांच साल तक इन्हें बनाने वाले ठेकेदार ही करेंगे. टेंडर की प्रक्रिया ई–टेंडरिंग पद्धति से होगी.

Copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here