PATNA : उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में राम राखी की धूम है। यहां गुरुकृपा संस्थान की अगुवाई में बहनें बड़े पैमाने पर राम राखी तैयार कर रही हैं। ये राखियां अयोध्या भेजी जाएंगी। जहां राम मंदिर निर्माण और अयोध्या को सजाने-संवारने में जुटे कारीगरों की कलाई पर बांधी जाएगी। संस्थान की तरफ से तीन तरह की राम राखी बनाई गई है। एक में प्रस्तावित राम मंदिर के मॉडल का चित्र है तो दूसरे में भगवान राम के रौद्र रुप वहीं तीसरा चित्र लंका विजय से पहले रामेश्वरम में रुद्राभिषेक की है।

गुरुकृपा संस्‍थान के निदेशक बृजेश राम त्रिपाठी ने बताया कि, 5 अगस्‍त को अयोध्‍या में भव्‍य श्रीराम मंदिर की नींव प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी रखने जा रहे हैं। मुख्‍यमंत्री का शहर होने के नाते और गोरक्षपीठ के राम मंदिर निर्माण में अहम योगदान को देखते हुए यह योगदान देने का निर्णय लिया। वे बताते हैं कि संस्‍थान की बहनें ये राखियां बड़े पैमाने पर तैयार कर रही हैं। जिसे अयोध्‍या भेजा जाएगा। वहां और गोरखपुर के भाईयों की कलाई पर सजने वाली ये राखियां वसुधैव कुटुंबकम और कण-कण में राम के संदेश को देश और दुनिया में पहुंचाएगा।

Copy

शिवानी पांडेय ने कहा कि, मैं भाईयों को संदेश देना चाहती हैं कि वे राम की तरह गुणों को अपने अंदर भी साकार करें। सवेरा कहती हैं कि इस राखी में भगवान राम और राम मंदिर की कृति को लगाया गया है।जिससे सभी भाईयां की कलाई पर राम और मंदिर का संदेश हर किसी तक पहुंचे। वैष्‍णवी भी राम राखियां तैयार कर बहुत खुश हैं। वे कहती हैं कि, 5 अगस्त को राम मंदिर का निर्माण शुरू होगा। हमारा प्रयास है कि ये राखियां वहां पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here