PATNA : बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) से ठीक पहले सीट शेयरिंग को लेकर एलजेपी (LJP) के तेवर लगातार तल्ख हो रहे हैं. इस कड़ी में पार्टी के पूर्व सांसद सूरजभान सिंह ने अपने सहयोगियों को गर्दन नहीं दबाने तक की नसीहत दे डाली है. बुधवार को दिल्ली में हुई बैठक के बाद सूरजभान सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अगर आप बिल्ली का भी गर्दन दबाएंगे तो उसका पलटवार काफी खतरनाक हो जाता है, उनका इशारा साफ तौर पर सीट शेयरिंग को लेकर अपने सहयोगियों की तरफ से बनाए जाने वाले दबाव को लेकर था. सूरजभान ने कहा कि बिहार में हमारी 36 सीटें बनती हैं. 123 सीट पर जेडीयू-बीजेपी के सीटिंग विधायक हैं जबकि बाकी की बची 120 सीटों में से हमें पसंद की 20 सीटें चाहिए. सूरजभान ने कहा कि इसके बाद बची हुई 100 सीटों में से बी और सी ग्रेड की 16 सीटें हमें दी जाए ताकि हमारा आंकड़ा 36 को छू जाए. पार्टी को 25 से भी कम सीट दिए जाने संबंधी खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए सूरजभान ने स्पष्ट तौर पर कहा कि अगर आप किसी की गर्दन दबाइएगा तो उसका असर बहुत खतरनाक होता है.

पार्टी के पूर्व सांसद सूरजभान सिंह ने बैठक के बाद कहा कि चिराग पासवान ही हर मुद्दे पर फ़ैसला लेंगे. सूरजभान ने कहा कि बात चाहे गठबंधन की हो या फिर सीट की अंतिम फैसला चिराग को ही लेना है. नीतीश कुमार की लोकप्रियता के सवाल पर सूरजभान सिंह ने कहा कि यह आने वाला वक़्त बताएगा. मालूम हो कि इससे पहले भी लोजपा लगातार सीटों की मांग करने के साथ ही बिहार की 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के संकेत दे रही है. पार्टी के अंदर कई राउंड की वार्ता हो चुकी है जिसमें सभी ने चिराग पासवान को अंतिम फैसला लेने के लिए अधिकृत किया है. पार्टी की कोशिश है कि सीटों के बंटवारे को लेकर अभी से ही दबाव बनाया जाए ताकि खाते में अधिक से अधिक सीटें आएं.

Copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here