उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़के हिंदू विरोधी दंगों का सूत्रधार बनकर पार्षद ताहिर हुसैन उभरा है। उसके घर से हिन्दुओं पर पत्थरबाजी हुई। पेट्रोल बम फेंके गए। गोलियॉं चलाई गई। स्थानीय लोगों के अनुसार दंगाई लोगों को खींचकर उसके घर ले गए और फिर निर्मम तरीके से हत्या कर लाश नाले में फेंक दी। आईबी के अंकित शर्मा की हत्या भी उसके घर में किए जाने का आरोप है। उनका शव नाले से बरामद किया गया था और पोस्टमार्टम रिपोर्ट बताती है कि उन्हें 400 से ज्यादा बार गोदा गया था।

एफआईआर दर्ज होने के बाद से ताहिर हुसैन फरार बताया जा रहा है। आप ने भी उसे पार्टी से निलंबित कर दिया है। हालॉंकि अमानतुल्लाह खान जैसे आप विधायक अब भी उसका बचाव कर रहे हैं। इस बीच, भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले को एक नया मोड़ दिया है। उन्होंने आशंका जताई है कि ताहिर हुसैन के आतंकियों से रिश्ते हैं और इसकी जाँच के कारण ही अंकित शर्मा की हत्या की गई।

Copy

स्वामी ने ट्वीट किया, “सरकार को यह स्पष्ट करने की जरूरत है कि आईबी के अधिकारी अंकित शर्मा कहीं बांग्लादेशी आतंकियों के साथ ताहिर हुसैन के संबंधों के तार तो नहीं ढूँढ रहे थे और इसीलिए उनकी हत्या ताहिर के इशारे पर कर दी गई। अंकित की हत्या अगर बांग्लादेशी आतंकियों के साथ ताहिर के संबंधों पर नजर रखने के लिए हुई है तो यह बेहद गंभीर मामला है।”

बता दें कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के दौरान अंकित शर्मा की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक अंकित के शरीर पर 400 से ज़्यादा बार चाकुओं से गोदा गया। अंकित के शरीर के हर हिस्से पर चाकू मारे गए थे। उनके शरीर का एक भी हिस्सा ऐसा नहीं था जिसमें चाकू के गहरे घाव न हों। यहाँ तक की उनकी आँत तक को निकाल लिया गया था। अंकित के साथ हुई भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने कहा कि इस तरह से यातना का शिकार और क्षत-विक्षत बॉडी उन्होंने अपने जीवन में कभी नहीं देखा।

अंकित शर्मा का शव 26 फरवरी को चाँद बाग के एक नाले से मिला। अंकित शर्मा के पिता राजिंदर कुमार का आरोप है कि उनके बेटे की हत्या के पीछे ताहिर हुसैन का हाथ है। अंंकित शर्मा के पिता ने शुक्रवार (फरवरी 28, 2020) को नया खुलासा करते हुए कहा कि अंकित शर्मा के शव को दंगाइयों ने मस्जिद से नाले में फेंका था। उन्होंने दिल्ली के दयालपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराते हुए AAP के निलंबित नेता और नगर पार्षद ताहिर हुसैन के अलावे कई अन्य लोगों को भी आरोपित बनाया है।

अंकित के पिता रविन्द्र शर्मा की तहरीर पर दिल्ली पुलिस ने हिंसा को बढ़ावा देने, आगजनी और अंकित की हत्या सहित कई मामलों नगर पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। साथ ही दिल्ली पुलिस ने ताहिर हुसैन के घर को सील कर उसके ख़िलाफ़ जाँच शुरू कर दी है। नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के खजूरी ख़ास क्षेत्र स्थित ताहिर हुसैन की फैक्ट्री को भी सील कर दिया गया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक ताहिर हुसैन के घर में 3000 दंगाई इकट्ठा थे। दंगों के बाद उसके घर की छत पर से ईंट-पत्थर और पेट्रोल बम का जखीरा भी बरामद हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here