PATNA : राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने अपने ससुराल के जिले सारण के बाढ़ग्रस्त इलाकों (Flood Affected Areas) के दौरा पर गए। वहां सोनपुर के भिन्नी टोला में अपने चर्चित ‘लालू रसोई’ (Lalu Rasoi) के माध्यम से बाढ़ग्रस्त लोगों को खाना खिलाया। इसके बाद एक टूटी नाव (Boat) पर कुर्सी लगवाई और उसपर सवार होकर बाढ़ से घिरे लोगों से मिलने निकल पड़े। नाव पर उन्‍होंने पतवार भी खुद ही थाम ली। इसके पहले तेज प्रताप यादव कभी रिक्‍शा की सवारी कर चुके हैं तो कभी साइकिल चलाते गिर चुके हैं। वे कभी घोड़े पर तो कभी बाइक पर भी दिखे हैं। तेज प्रताप जलेबी छानने से लेकर राज मिस्‍त्री तक का काम करते हुए भी नजर आ चुके हैं। अब उनका नाव खेना (चलाना) भी चर्चा में है।

विदित हो कि तेज प्रताप यादव ‘लालू रसाेई’ नाम से संचालित अपने अभियान के माध्यम से बाढ़ पीड़ितों (Flood Victims) को भोजन मुहैया करा रहे हैं। इसी सिलसिले में वे सोनपुर के भिन्नी गांव में पहुंचे। इस दौरान उन्‍हाेंने कहा कि आगे भी लालू रसोई लोगों को भोजन उपलब्ध करवाएगी। उन्‍होंने राज्‍य के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमला बोलते हुए कहा कि डबल इंजन वाली कुशासनी सरकार चुनाव में व्‍यस्‍त है और जनता कोरोना महामारी (CoronaVirus Pandemic) के साथ-साथ बाढ़ (Flood) से भी त्रस्त है।

Copy

तेज प्रताप यादव ने नाव से सोनपुर के बाढ़ग्रस्त इलाकों में लालू रसोई के माध्यम से कच्चे राशन के पैकेट का वितरण किया। इस दौरान नाव पर कुर्सी लगाकर बैठना व कभी नाव खेने का लोगों ने खूब मजा लिया। तेज प्रताप यादव अपने अंदाज को लकर चर्चा में रहते आए हैं। वे कभी कृष्‍ण-कन्‍हैया के रूप में बांसुरी बजाते दिखते हैं तो कभी भगवान भोलेनाथ का रूप धर लेते हैं। कभी साइकिल चलाते तो कभी रिक्‍शे पर नजर आते हैं। पटना में वे घुड़सवारी करते व बाइक चलाते भी दिख चके हैं। जलेबी छानने से लेकर मकान की ईंट जोड़ने तक के काम करते वे दिख चुके हैं। उनका फिल्‍मों में भी अभिनय चर्चा में रहा है। इस इस कड़ी में नाव को खेना भी जुड़ गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here