PATNA : मौसम विभाग ने अगले 72 घंटों में उत्तर बिहार और नेपाल से सटे 11 जिलों में भारी बारिश के साथ वज्रपात की चेतावनी जारी की है। नेपाल के तराई क्षेत्र और उत्तर पूर्वी बिहार के सीतामढ़ी, दरभंगा, समस्तीपुर, मधुबनी,सुपौल, अररिया, सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, किशनगंज और कटिहार में मूसलाधार बारिश के साथ वज्रपात के आसार हैं।

मौसम विभाग ने लोगों को सावधानी और सुरक्षा बरतने की अपील की है। मौसम विज्ञान केंद्र ने चेतावनी जारी कर कहा कि रडार और अन्य उपकरणों पर मिल रहे संकेत के आधार पर यह आकलन किया गया है। इधर, पिछले 24 घंटे में उत्तर बिहार के कई इलाकों में मध्यम से भारी बारिश दर्ज की गई है। किशनगंज के तैयबपुर और सुपौल के बीरपुर में भारी बारिश से जनजीवन पर असर पड़ा है। इन दोनों जगहों पर 180 मिमी बारिश हुई है। ठाकुरगंज में भी 70 मिमी बारिश हुई। पटना में भी दिन में आंशिक बूंदाबांदी हुई लेकिन बाद में मौसम बदल गया। यहां तेज धूप से लोग दिनभर बेहाल रहे। पटना में बारिश स्थानीय वजहों से हुई बताई जा रही है।

Copy

वज्रपात होने से 20 मिनट पहले चेतावनी देगा ये ऐप
ठनका (वज्रपात) गिरने से होने वाली जान-माल की हानि को रोकने का अचूक हथियार सबके पास हो सकता है। आपदा प्रबंधन विभाग के इंद्र वज्र मोबाइल ऐप से किसी को भी ठनका गिरने के 20 मिनट पूर्व स्थल की जानकारी मिल सकती है। जानकारी के अभाव में लोग इस ऐप का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। आपदा विभाग ने लोगों को ऐप डाउनलोड करने और सतर्क रहने की सलाह दी है।

जिला प्रशासन ने जानकारी दी है कि गूगल प्ले स्टोर से स्मार्टफोन में इंद्र वज्र ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल करने वाले को कहीं ठनका गिरने से 20 मिनट पूर्व चेतावनी मिल जाएगी। इससे वे सुरक्षित स्थल पर जाकर जान-माल की रक्षा कर सकेंगे। जिला प्रशासन ने बताया कि ऐप एप सटीक जानकारी देता है। लोगों में जागरूकता के अभाव में इसका इस्तेमाल कम किया जाता है। यह ऐप तापमान भी बताता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here